Follow by Email

Saturday, May 21, 2016

चलना ही जिंदगी  है ( ७ ) 
                                       इस सप्ताह के सुविचार -----


  • अपने काम में मन लगाने से वह काम , काम नहीं रहता . वह खेल बन जाता है.
           जीवन में ख़ुशी तभी है जब इस खेल में हम रम जाएं.



  • आपकी ज़िन्दगी का हर एक पल एक कहानी का हिस्सा है. कहानी कैसी होगी ,यहआप पर निर्भर करेगा. अपनी कहानी अर्थपूर्ण बनाने का प्रयास करें.




  • दिल में कुछ कर गुजरने की तमन्ना रखें 
           रास्ते खुद -ब - खुद बनते जायेंगे .



  • पल -पल यह ज़िन्दगी कुछ नए रंग दिखाती है , आइये हम भी अपनी आदतों में कुछ नया शामिल करें, कुछ अच्छे बदलाव की ओर कदम बढाएं.



  • हम अपनी सोच से ही निर्मित होते हैं, जैसा सोचते हैं वैसे ही बन जाते हैं। जब मन शुद्ध होता है तो खुशियाँ परछाई की तरह आपके साथ चलती हैं ।   - गौतम बुद्ध

  • जिस प्रकार नदी अपना रास्ता बना ही लेती है चाहे कितनी ही बाधाएं आयें, उसी प्रकार मनुष्य भी बाधाएं पार करने की हिम्मत रखता है और अपना रास्ता बना लेता है.
उषा छाबड़ा
२२.५.१६

No comments: