Follow by Email

Sunday, November 11, 2018


गांधी जयंती पर मुझे कई स्थानों  जैसे नेहरु संग्रहालय , राजीव गांधी फॉउण्डेशन, किरण नादर संग्रहालय  पर गांधी जी के आश्रम  सम्बन्धी प्रसंग सुनाने का मौका मिला।  इसके अंतर्गत गांधी जी की प्रार्थना सभा एवं  चरखे का सन्दर्भ बच्चों को खूब भाया।    








Friday, September 7, 2018

Storytelling cum workshop on waste and its management


Helping children to know about trash,its impact on environment, how to reduce trash .
Storytelling cum workshop on waste and its management was conducted for children of classes II and III on the occasion of World Literacy Day. The stories कचरे का बादल by Pratham books and मोत्ताइनाइ दादी माँ by NBT were narrated. A video showing the menace of Plastic was also shown. Children were motivated to reuse things and reduce waste.








Tuesday, September 4, 2018

My interview at Curious Hounds

Trust an interviewer to string a series of vignettes to form a cohesive and interesting story. Feeling really elated today to have my interview published in #CuriousHounds, an online magazine that explores unique ideas. Through this interview, I got a chance to look back on my service of 23 years and the efforts I made to diversify my work, and in service of a cause that I believe is extremely important, that is reinvigoration of children's interest in Hindi, as a language rich with culture. This gives me a deep sense of satisfaction, which is what has made every effort worth it.
पीछे मुड़कर देखा, मुस्कराकर सोचा...
चलना ही जिंदगी है, चलता चल मुसाफ़िर।

जन्माष्टमी

जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में सुनिए मेरे द्वारा सुनाई एक कहानी
https://www.youtube.com/watch?v=57Ecow7ScJM

Tuesday, August 21, 2018

Storytelling at National Museum

Independence Day Celebrations !
It was really a great experience to tell glorious stories of Indian maritime at navy gallery of National Museum.  An altogether different experience!! 








Thursday, August 9, 2018

Storytelling at Kiran Nadar Museum of Art

Storytelling at Kiran Nadar Museum of Art

 KNMA celebrated the belated birth anniversary of renowned author of Hindi and Urdu, Munshi Premchand which falls on 31st July with the children of CEHRO India, an NGO based in Munirka Delhi.It was  an hour long session of storytelling of Premchand’s four well-read stories. The children enjoyed the animated narration and responded enthusiastically. Later the children also participated in storyboard making workshop, where the young children drew from their imagination but taking from Premchand’s stories itself.






Saturday, August 4, 2018

ऊ की मात्रा एवं उससे बने शब्दों का उच्चारण



Video    ऊ की मात्रा एवं उससे बने शब्दों का उच्चारण  


नीचे दिए लिंक पर आप ऊ की मात्रा से  संबंधित  शब्दों  का उच्चारण जानेंगें। 

ऊ की मात्रा (ू )  का प्रयोग

https://www.youtube.com/watch?v=CVwICD7eniY&t=36s

Sunday, July 22, 2018

अफ़्रीकी लोककथा 'उवंगलामा ' का मेरे द्वारा नाट्य रूपांतरण

अफ़्रीकी लोककथा    'उवंगलामा  ' का मेरे द्वारा नाट्य रूपांतरण 

 https://www.youtube.com/watch?v=gFCdSN5tmoI&feature=youtu.be


मेरे द्वारा देश- विदेश की लोक कथाओं का मंचन किया गया।  देखिए कुछ झलकियाँ - 






Monday, June 18, 2018

'उ' की मात्रा एवं उससे बने शब्दों का उच्चारण



'उ'  की मात्रा एवं  उससे बने शब्दों का उच्चारण
नीचे दिए लिंक पर आप 'उ'  की मात्राओं सम्बन्धी शब्दों  का उच्चारण जानेंगें।

https://www.youtube.com/watch?v=SwTUSIyYAK0&t=24s

Sunday, June 3, 2018

ई की मात्रा एवं उससे बने शब्दों का उच्चारण


ई  की मात्रा एवं  उससे बने शब्दों का उच्चारण
नीचे दिए लिंक पर आप ई की मात्राओं सम्बन्धी शब्दों  का उच्चारण जानेंगें।

ई की मात्रा एवं उससे बने शब्दों का उच्चारण  

Saturday, May 19, 2018

'इ ' की मात्रा - वीडिओ

हिंदी में लिखते वक्त बच्चे अधिकतर मात्राओं की गलतियाँ करते हैं। अतः मैं मात्राओं के वीडिओ की शृंखला तैयार कर रही हूँ। आज की कड़ी है 'इ ' की मात्रा। आशा है आपको यह वीडिओ पसंद आएगा। इसे अधिक से अधिक शेयर करें और चैनल को subscribe करें। '

इ की मात्रा ( ि )

Tuesday, May 15, 2018

Monday, April 30, 2018

Story of Lord Budha's childhood

Watch the story of Lord Budha's childhood at the following link

https://www.youtube.com/watch?v=q5RIuVWDmG8


Saturday, April 28, 2018

At round table meeting for interaction with guest storytellers Nazlı Azazi , Jessica Wilson and storytellers from Delhi along with visiting professors from Turkey.



Tuesday, March 20, 2018

कहानी ' अनोखा इलाज

आज    World Storytelling Day  है  इस उपलक्ष्य में सुनिए एक कहानी ' अनोखा इलाज ' इस लिंक पर

https://www.youtube.com/channel/UC6pf777vk_qQ7iU6qqzGWWA


Wednesday, February 28, 2018


               राष्ट्रीय विज्ञान दिवस

   नई पीढ़ी के लिए विज्ञान शिक्षण 
कल्पना  के रंगों को पंख देता है विज्ञान
आदमी की सोच को विस्तार देता है विज्ञान
प्रगति के पथ को प्रशस्त करता है विज्ञान
जिन्दगी के रहस्यों  को अर्थ देता है विज्ञान
विज्ञान हमारे जीवन का एक सुंदर एवं अभिन्न  अंश बन गया है इसके बिना तो जैसे जीवन ही अधूरा है सुबह से लेकर रात होने तक ऐसी कितनी वस्तुओं का प्रयोग करते हैं जो विज्ञान ने हमें प्रदान की हैं विज्ञान ने हमारी जिंदगी को सुंदर व आसान बना दिया है
अभी भी कई अनसुलझे  रहस्यों पर पर्दा पड़ा हुआ है और इस तरफ बहुत प्रयास हो रहे हैं , यह अच्छी बात है आजकल कई बच्चे अपनी ओर से इस विषय की ओर रूचि दिखाते हैं, छोटी उम्र में भी कई कुछ खोज कर रहे हैं, परन्तु यह पर्याप्त नहीं है
विज्ञान को रुचिकर बनाना ही पहला कदम है विज्ञान को तो दिनचर्या की हर छोटी चीज से जोड़ा जा सकता है प्राथमिक कक्षाओं के शिक्षकों और छोटे बच्चों के अभिभावकों  पर इस बात की अधिक जिम्मेदारी है कि वे आने वाली पीढ़ी को इस की ओर आकर्षित करें
कक्षा नर्सरी से ही बच्चों में मौजूद जिज्ञासा  को बढ़ावा देना चाहिए, उन्हें अधिक से अधिक  बगीचे की सैर करानी चाहिय्रे उनके मन में उठने वाले प्रश्नों को डाट -डपट कर बंद नहीं कर देना चाहिए उन्हें रंगबिरंगी  किताबें देनी चाहिए जिनमें जीव जंतुओं के चित्र हों , राकेट हों, एस्ट्रोनॉट आदि हों कविताओं  एवं कहानियों के माध्यम से विज्ञान के सरल तथ्यों को बच्चों तक पहुचाना चाहिए
कक्षा तीसरी से पाचवीं तक आते- आते उन्हें कक्षा में हलके -फुल्के प्रयोग दिखाने की छूट देनी चाहिए जैसे कि उबले अंडों और कच्चे  अंडों को आप आसानी से कैसे बाहर से ही पहचान सकते हैं , अगर तीन गिलासों में  समान मात्रा में पानी  भरा हो ,तो हम उनमें अंडों को अलग अलग सतह पर कैसे रख सकते हैं, कौन सी वस्तुएँ  पानी में तैरेंगी, कौन सी डूबेंगी, कौन- सी वस्तुएँ  चुम्बक द्वारा आकर्षित होंगी , सात रंगों को हम सफ़ेद रंग में कैसे देख सकते हैं आदि छोटे छोटे कई रोचक प्रयोग हैं जिन्हें बिना किसी डर के बच्चे अपने स्तर पर कक्षा में दिखा सकते हैं ।घर पर भी अभिभावक ऐसे प्रयोगों को बढ़ावा  दे सकते हैं।
हर तथ्य को करके दिखाने की कक्षा होनी चाहिए किसी भी वस्तु को सूक्ष्मदर्शी  यन्त्र के नीचे रख कर देखने की छूट देनी चाहिए, जैसे विभिन्न प्रकार के कपड़ों के टुकड़ों को जब आप सूक्ष्मदर्शी  यन्त्र के द्वारा देखते हैं तो आप हैरानी से भर उठते हैं , कितने रोचक दिखतें हैं ये इसी प्रकार पक्षियों के पंख, फूलों की पंखुड़ियाँ आदि  किताबी ज्ञान से परे की दुनिया उन्हें दिखानी  चाहिए
कक्षा में कभी कभी  खोजों पर, वैज्ञानिकों पर, ग्रहों आदि अन्य विषयों पर चर्चा, प्रश्नोतरी आदि का आयोजन होना चाहिए कभी- कभी  समाचार पत्र में आये पर्यावरण संबंधी समस्यामूलक विषयों पर बातचीत करनी चाहिए
परीक्षा के प्रश्न रटंत विद्या पर आधारित न होकर उनकी नई सोच, उनकी सृजनात्मकता को बढ़ावा देने वाले होने चाहिए कुछ छोटी- छोटी  पुरानी चीजों को आपस में जोड़कर नया बनाने के  लिए प्रेरित करना  चाहिये  बेसिक किताबी  ज्ञान अवश्य होना चाहिए परन्तु प्रोजेक्ट आधारित शिक्षा होनी चाहिए आज ऐसे विद्यालयों , ऐसे शिक्षकों ,  ऐसे अभिभावकों की आवश्यकता है जो विज्ञान जैसे सुंदर विषय को बोझिल न बनाएँ  बच्चा  इस विषय से डरें नहीं , कुछ नया कर दिखाने की  उसमें जहाँ हर दिन ललक हो
अभिभावकों को भी बच्चों के प्रश्नों से थकना नहीं चाहिए बल्कि उन्हें अपने बच्चों के साथ उनके उत्तर ढूँढने में मदद करनी चाहिए। बच्चों के साथ ढेरों बातें करें , उनके साथ  बैठकर विज्ञान संबंधी कार्यक्रम देखें । उन्हें ऐसी किताबें दिलाएँ जिनसे उनकी विज्ञान के प्रति रूचि जागृत हो।
उषा छाबड़ा




I am extremely thankful to Seth M.R. Jaipuria schools Banaras, for inviting me to their school as a guest speaker to share my experience on innovative teaching techniques and creating future champions of the society.It was really an enriching experience to meet so many teachers .